Home / Hinglish SEX Kahani / Pahli Bar Chudai (page 14)

Pahli Bar Chudai

First time chudai kahaniya, hindi sex stories virgin sex kahaniya, kuwari ladki ke sath sex, mera pahla sex, kuwari chut chudai, lund ka pahla milan chut se, pahli chudai ki kahani

शेरनी ने किया मेरे लण्ड का शिकार (Sherni Ne Kiya Mere Lund Ka Shikaar )

मेरी सेक्स स्टोरी पढ़ने वाले, मेरे सभी पाठकों को मेरा और मेरे खड़े लण्ड का नमस्कार.. नये पाठकों को बता दूँ की मेरा नाम सुमित है, उम्र 20 और जाती से, शरीर से, क्रम से पहलवान हूँ.. इससे पहले भी मेरी दो कहनियों की श्रंखला “कुँवारी कली” (1 – 3) …

Read More »

सेक्सी स्टूडेंट की सील तोड़ी

प्रेषक : प्रिंस … हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम प्रिंस है और में पिछले कुछ महीनों से कामुकता डॉट कॉम की कहानियों को पढ़ता आ रहा हूँ और मुझे ऐसा करना बहुत अच्छा लगता है क्योंकि इसकी अधिकतर कहानियाँ बहुत ही रोचक और मजेदार होती है, लेकिन मुझे उनमे सबसे ज्यादा …

Read More »

भाई ने करवाई जन्नत की शैर

हैलो फ्रेंड्स मेरा नाम राजुल है और में 21 साल की हूँ। मै नाईटडिअर की कहानी बहुत दिनों से पढ़ रही हूँ !! मुझे इसके बारे में अपनी फ्रेंड से पता चला !! दोस्तों मेरे घर पर कुल 5 सदस्य रहते है मम्मी, पापा, में, मेरी एक बहन और मेरा …

Read More »

माँ दादी और बहन की एकसाथ चुदाई की कहानी: part 2

प्रेषक : अमन “माँ दादी और बहन 1” से आगे कि कहानी . . .इसके पहले की कहानी पड़ने के लिए यहाँ click करे फिर एक दिन माँ और दादी को शादी मे जाना पड़ा जाना तो मुझे भी था. मगर शादी बहुत दूर थी. 3 दिन लगते और काम …

Read More »

पड़ोस की कच्ची कली को चोदा फुल मूड में

प्रेषक : गुमनाम मे गांव से शहर के घर मे शिफ्ट हुआ था की मेरी मुलाकात मेरी पड़ोसन से हो गयी. उसका नाम था कंचन. मेरी उम्र 19 साल है ओर कंचन की 20 । उसके साथ मेरी पहली मुलाकात उसके घर पर ही हुई थी. हम दोनो का घर …

Read More »
वैधानिक चेतावनी : यह साइट पूर्ण रूप से व्यस्कों के लिये है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष या उससे कम है तो कृपया इस साइट को बंद करके बाहर निकल जायें। इस साइट पर प्रकाशित सभी कहानियाँ व तस्वीरे पाठकों के द्वारा भेजी गई हैं। कहानियों में पाठकों के व्यक्तिगत् विचार हो सकते हैं, इन कहानियों व तस्वीरों का सम्पादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आप अगर कुछ अनुभव रखते हों तो मेल के द्वार उसे भेजें