Home / Hinglish SEX Kahani / Bhabhi ki Chudai / मारवाड़ी आंटी की मारी

मारवाड़ी आंटी की मारी

प्रेषक : विशाल

हैल्लो दोस्तो ये मेरी पहली कहानी है। मेरा नाम विशाल है और मेरी उम्र 26 साल हाईट 6 फीट बॉडी अच्छी खासी है। मेरा एक बहुत बड़ा ट्रांसपोर्ट का बिजनेस है। दोस्तों ये कहानी दो महीने पहले की है। मेरे डेड के ओसवाल नाम के एक मारवाड़ी दोस्त है। उनकी बीवी जिनका नाम रुचिता उम्र 38 है। जिसे में आगे सिर्फ़ रुचि कह कर बुलाता हूँ। रुचि के फिगर 36-29-40 है। जब कोई भी उसके बड़े बड़े बूब्स और मटकती गांड को देख ले तो हर किसी का लंड खड़ा हो जाएगा। मेरा रुचि के घर काम से आना जाना रहता था। में हर बार उसकी गांड और बूब्स को बड़े ध्यान से देखता था। दोस्तों रुचि एक लड़की है, वो मुंबई मे दादा दादी के पास रहती है। रुचि और अंकल बिजनेस की वजह से कोल्हापुर मे रहते है। अंकल हमेशा बाहर रहते है और जब अंकल बाहर रहते है तो उनके यहाँ पर काम करने वाली नौकरानी रुचि को कंपनी देने के लिए उसके घर अंकल आने तक रहती है।

पिछले महीने अंकल को काम से केरल जाना था और उनकी नोकरानी के ससुर का देहांत हो गया था इसलिए वो कुछ दिन उनके घर काम के लिए नहीं आने वाली थी तो अंकल के सामने बड़ी परेशानी हो गई कि रुचि आंटी को अकेला कैसे छोड़कर जाए। तभी अंकल डेड को मिलने आ गये उन्होंने डेड को अपनी प्रोब्लम बताई तो डेड ने कहा कि विशाल रोज़ काम खत्म करके आपके घर आ जाएगा, तुम बिलकुल भी चिंता मत करो। तभी अंकल भी तैयार हो गये अंकल ने कहा कि ठीक है ये बहुत अच्छी बात है। तभी मुझे डेड का कॉल आया तू कल से पांच दिन के लिए रुचि के पास रात मे सोने को जा अंकल बाहर जाने वाले है।

तभी मेरे मन मे लड्डू फूटने लगे दूसरे दिन अंकल ने मुझे कॉल किया उनके पास सामान कुछ ज्यादा था इसलिए में अंकल को उनकी कार लेकर रेलवे स्टेशन छोड़ने गया। तभी मुझे रास्ते मे आते समय रुचि का कॉल आया कि जल्दी घर आना, मैंने तुम्हारा खाना यहीं बना दिया है मैंने कहा ठीक है। में रात के 9 बजे घर पर पहुंचा, तभी मैंने देखा कि रुचि नाईट गाउन मे सेक्सी लग रही थी। मेरा मन कर रहा था अभी इसके कपड़े फाड़ दूँ और जमीन पर पटक कर चोदूं में उसे घूर घूर कर देखता रहा। तभी उसने कहा जनाब कहाँ खो गये? में हड़बड़ा गया और अंदर गया रुचि ने सूप बनाया था और कुछ मारवाड़ी टाईप खाना छोले और बहुत कुछ फिर हमने साथ ही बैठकर खाना खाया। अब दस बज चुके थे।

तभी हम टीवी पर मूवी देखने लगे मूवी मे किसिंग सीन आया, तभी रूचि ने पूछा विशाल क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है? मैंने कहा कि एक है लेकिन उसकी शादी हो गई, तभी उसने सॉरी कहा तो मैंने झट से कहा एक है मुझे वो पसंद है लेकिन में उसे कह नहीं पा रहा। तो उसने कहा में कह दूँ, तो मैंने कहा वो नहीं मानेगी, उसने कहा कि कैसे नहीं मानेगी में उसे मना लूंगी। तो मैंने कहा आप उसे नहीं मना सकती, तो उसने उसका नाम पूछा तो मैंने बताने से इंकार कर दिया और उसे कहा कि आप उसका नाम सुन कर नाराज़ हो जाओगी। तभी रूचि ने प्रोमिस किया में नाराज़ नहीं होऊँगी प्लीज उसका नाम बताओ।

तो तभी मैंने रुचिता कहा तो वो मेरी तरफ हैरानी से देखने लगी। मैंने उसे कहा कि आप बहुत अच्छी हो, तो उसने झट से कहा मुझे पता है तुम मुझे बहुत पसंद करते हो, तो मैंने पूछा आपको ये कैसे पता?

तो उसने कहा कि तुम जब घर आते हो तो सिर्फ मुझे ही निहारते रहते हो, मैंने तो सिर्फ तुम्हारे मुहं से ये बात सुनना चाहती थी। तभी मेरे अंदर से बहुत खुश हो गया और उसे अपनी बाँहों मे भर लिया। में उसके लिप पर लिप किस करने लगा उसकी गांड को दोनो हाथो से रगड़ने लगा। वो सिसकारियाँ भर रही थी आह्ह्ह्हह, मेरी जीभ उसकी जीभ से टकरा रही थी। हमारा किस दस मिनट तक चलता रहा, मैंने उसे गोद मे उठाया और बेडरूम में ले गया और उसका गाउन उतार दिया, अब वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी मे थी। तभी मैंने उसकी ब्रा निकाली और उसके बूब्स जोर जोर से दबाने लगा और चूसने लगा। उसने मेरी शर्ट निकाली और मेरी पेंट अंडरवियर के साथ निकाली। मेरा 8 इंच का लंड देखकर उसका मुहं खुला का खुला रह गया। उसने कहा मैंने अपनी जिंदगी मे इतना बड़ा लंड नहीं देखा और वो लंड को सहलाने लगी।

तभी मैंने उसे कहा रुचि मुझे तुम्हारी गांड बहुत पसंद है। उसने कहा आज से ये सब तुम्हारा है। मैंने उसकी पेंटी निकाली उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था, तभी उसने कहा मेरे राजा आज ये होने वाला था इसलिए मैंने पहले से ही सब काम खत्म कर लिये। फिर में उसकी चूत चाटने लगा। वो सिसकियां भरने लगी आह्ह्ह्ह मरी में चाट मेरी चूत मेरे राजा आज तक किसी ने इसे ऐसे प्यार नहीं दिया चाट आअज्जजज जोर से जो जी चाहे कर। फिर में उसकी चूत में जीभ डालकर चाटता रहा वो मेरे सर को पकड़ कर चूत पर जोर से दबा रही थी। तभी उसने मुझे 69 के पॉज़ मे आने को कहा अब वो मेरा लंड मुहं मे लेकर चूस रही थी और में उसकी चूत चाट रहा था।

फिर 10 -15 मिनट बाद वो झड़ गई। अब वो मेरा लंड चूस रही थी। में उसके मुहं में ही झटके मारने लगा और 20 मिनट बाद में भी झड़ गया। उसके मुहं मे वो सारा वीर्य पी गई। हम एक दूसरे के ऊपर पड़े रहे उसके थोड़ी देर बाद मेरा लंड खड़ा हो गया। फिर मैंने उसके दोनों पैर फैला दिये और अपना लंड हाथ से पकड़ कर चूत में डाल दिया और धीरे धीरे से झटके दिये वो बोली साले चोद रहा है कि टाईम पास कर रहा है। तभी मैंने ये बात सुनकर एक ज़ोर का धक्का दिया और चोदने लगा, तभी उसकी आंख से आसूं आने लगे तो उसने कहा मार डालेगा क्या? तो मैंने कहा साली मुझे बोल रही थी कि टाईम पास कर रहा है और अब जोर जोर से चोदने लगा तो तू चिल्लाने लगी। तभी वो कहने लगी चोद मुझे हार्ड चोद मुझे चोद मुझे फिर में पूरे ज़ोर से उसे चोद रहा था।

यस वाउ याआह्ह्ह चोद मुझे मेरे राजा चोद वो तीन बार झड़ चुकी थी। 30 मिनट बाद मेरा भी वीर्य निकलने वाला था, तभी मैंने उसे कहा तो उसने कहा मेरी चूत मे ही झड़ जाना और में उसकी चूत मे ही झड़ गया। फिर उसके बाद हम थोड़ी देर बेड पर पड़े रहे। फिर मैंने उसे कहा मुझे तुम्हारी गांड देखनी है, तो उसने कहा कि तुम्हे मना किसने किया है। फिर मैंने उसे पेट के बल लिटा दिया और उसकी गांड का बड़ा होल देखने लगा। उसके चूतड़ बाजू करके देखने मे परेशानी हो रही थी। तभी मैंने उसे डोगी स्टाईल मे होने को कहा अब उसकी गांड का ब्राउन होल मेरे सामने था।

अब उसकी जो मादक महक थी, में क्या बताऊ यारो में तो पागल ही हो गया। फिर मैंने बहुत सारा थूक उसकी गांड के होल पर लगाया और उसकी गांड का होल चाटने लगा और फिर उसकी गांड मे मेरी उंगली डाली और अंदर बाहर करने लगा, वो सिसकियाँ और आहें भरने लगी। मैंने उसे पूछा कि कैसा लग रहा है? तो उसने कहा मुझे गांड मरवाने की बहुत चाहत थी। तुम्हारे अंकल ने आज तक मेरी चूत ही मारी है। आज मेरी कुंवारी गांड की सील तुम्हारा लंड डालकर तोड़ दो। फिर मैंने उसकी गांड से उंगली निकाली और फिर उसको लंड चूसने को कहा उसने लंड चूस लिया। फिर मैंने लंड उसकी गांड पर सटा दिया और धीरे से धक्का देने लगा लंड का मुहं बड़ा होने से अंदर नहीं जा रहा था, तो उसने पास से हेयर ऑयल आंवला का था। वो लंड और उसकी गांड के होल पर लगाने को कहा। मैंने लगाकर उसकी कमर को पकड़ कर ज़ोर का झटका मारा और वो चिल्लाने लगी साले फाड़ मेरी गांड चोद आज इसको मजे लूट मेरी जवानी के चोद और चोद, फिर मे जोश मे आकर उसे चोदने लगा और वो अपनी गांड हिला कर मेरा साथ देने लगी। अह्ह्हवाउ मार मेरी गांड चोद मुझे वो मेरा जोश बड़ा रही थी ठीक 25 मिनट बाद में उसकी गांड में झड़ गया।

उस रात मैंने रुचि को पांच बार चोद उसमे तीन बार गांड मारी उसके बाद चार दिन मे मैंने उसकी दस  बार गांड मारी और करीब पन्द्रह बार चूत मारी। आज भी में जाकर उसकी पहले गांड मरता हूँ। उसे गांड मरवाना बहुत पसंद है और जब जी भर जाता है में उसे रात भर चोदता हूँ जब मौका मिले तब, अब उसकी गांड और भी फूल चुकी है। मैंने उसे कई बार उसके कहने पर तो कभी उसके मना करने पर कई बार चोदा और उसे चोद चोद कर अपनी रंडी बना दिया। अब उसे बिना लंड लिये चेन नहीं मिलता ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply